TRAI के नए आदेश के मुताबिक, जल्द ही एक घर के मल्टीपल कनेक्शन के लिए कम्बाइन्ड पैकेज उपलब्ध कराया जा सकता है

TRAI के नए आदेश के मुताबिक, जल्द ही एक घर के मल्टीपल कनेक्शन के लिए कम्बाइन्ड पैकेज उपलब्ध कराया जा सकता है

केबल टीवी के नए नियमों के लागू होने से यूजर्स के मन में कई सवाल आ रहे हैं। खासतौर से उन यूजर्स को कई सवाल परेशान कर रहे हैं जो मल्टीपल टीवी कनेक्शन इश्तेमाल करते हैं। ये य़ूजर्स जानना चाहते हैं कि उन्हें हर कनेक्शन के लिए अलग शुल्क देना होगा या फिर वो कॉम्बो ऑफर का लाभ उठा सकते हैं। अब TRAI के नए आदेश के मुताबिक, जल्द ही एक घर के मल्टीपल कनेक्शन के लिए कम्बाइन्ड पैकेज उपलब्ध कराया जा सकता है। इससे यूजर की ओवरऑल कॉस्ट काफी कम हो जाएगी।

जल्द पेश होंगे मल्टीपल टीवी कनेक्शन्स के लिए नए पैक्स: TRAI

TRAI ने यूजर्स की इस परेशानी को समझते हुए मल्टीपल टीवी कनेक्शन्स के लिए कॉम्बो पैक्स पेश करने के आदेश दिए हैं। TRAI के चेयरमैन आर एस शर्मा ने आर्डर देते हुए कहा है कि सभी DTH कंपनियों और केबल ऑपरेटर्स को स्पेशल पैक्स और प्लान्स पेश करने के लिए कहा है। ये पैक्स उन यूजर्स के लिए बनाए जाएंगे जो मल्टीपल टीवी कनेक्शन लेना चाहते है या फिर इस्तेमाल करते हैं। TRAI ने DTH और केबल ऑपरेटर्स को इस मामले को लेकर दो दिन में जवाब देने को कहा है। ऐसी संभावना जताई जा रही है कि जिन घरों में 2 से ज्यादा कनेक्शन हैं तो इन स्पेशल पैक्स के बाद उनके टीवी का मासिक शुल्क पहले से कम हो जाएगा।

नहीं बढ़ेंगा टीवी शुल्क:

इससे पहले Crisil की एक रिपोर्ट में केबल यूजर्स को सचेत किया गया है कि आने वाले महीनों में उनकी टीवी बिल पहले के मुकाबले 25 फीसद तक बढ़ सकता है। हालांकि, TRAI ने इस रिपोर्ट को गलत साबित कर दिया है। इस मामले को लेकर TRAI के चेयरमैन आर. एस. शर्मा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की है। इस कॉन्फ्रेंस में आर. एस. शर्मा ने कहा है इस बात को सिरे से खारिज कर दिया है कि नए फ्रेमवर्क से यूजर का मासिक टीवी बिल बढ़ जाएगा। उन्होंने कहा है कि रिपोर्ट में तमिल, तेलुगु, बंगाली आदि भाषाओं के चैनल को मिलाकर पैकेज दिखाए जा रहे हैं और कहा जा रहा है कि इनसे यूजर्स का मासिक टीवी बिल बढ़ जाएगा। लेकिन अगर देखा जाए तो कोई भी यूजर इतने चैनल देखता ही नहीं है। किसी भी एक यूजर को सभी भाषाओं का ज्ञान नहीं होगा। ऐसे में उन्हें इतने चैनल का शुल्क देने की कोई आवश्यकता नहीं है। अगर यूजर सिर्फ वही चैनल लेता है जो वो सही में देखता है तो उसे ज्यादा शुल्क नहीं देना पड़ेगा।

संबंधित पोस्ट